Skip Navigation Linksहोम | अकादमी की पहल

अकादमी की पहल

प्रशासन अकादमी का आई. एस. ओ. प्रमाणन 9001:2008

(अ) आई. एस. ओ. प्रमाणन की उपयोगिता

  • संगठन द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओं की गुणवत्‍ता सुनिश्चित करने के लिए।
  • संगठन द्वारा अपनाई जाने वाली कार्यप्रणाली एवं प्रक्रियों को मानकीकृत करने के लिए।
  • संगठन द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओं/परिणामों में समानता सुनिश्चित करने के लिए।
  • संगठन द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओं का निरंतर मूल्‍यांकन करने के लिए।
  • संगठन द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओं की गुणवत्‍ता में उत्‍तरोतर वृद्धि करने के लिए।

(ब) आई. एस. ओ. प्रमाणन की प्रक्रिया

  • प्रशासन अकादमी की स्‍वप्रेरित पहल के अंतर्गत सेवोत्‍तम प्रकोष्‍ठ के माध्‍यम से बोर्ड ऑफ गवर्नर्स से अनुमोदन के उपरांत भारतीय गुणवत्‍ता परिषद के मार्ग दर्शन तथा तकनीकी सहयोग से कार्यवाही प्रारंभ की गई।
  • भारतीय गुणवत्‍ता परिषद के विशेषज्ञों के द्वारा अकादमी के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को इस हेतु प्रशिक्षित किया गया।
  • आई. एस. ओ. प्रमाणन हेतु अकादमी द्वारा संपादित गतिविधियों का सूक्ष्‍म अध्‍य्यन किया गया।
  • संधारित किए जाने वाले दस्‍तावेजों एवं प्रपत्रों को चिन्‍हांकित किया गया एवं अनावश्‍यक प्रक्रियाओं एवं प्रपत्रों को हटा कर आई. एस. ओ. प्रमाणन की आवश्‍यकता के अनुरूप 61 मानक परिचालन प्रक्रियाएँ (Standard Operating Processes) तैयार की गई।
  • अकादमी की गतिविधियों का शाखावार दो बार आंतरिक अंकेक्षण किया गया।
  • राष्‍ट्रीय गुणवत्‍ता परिषद द्वारा नियुक्‍त संस्‍थान इंटरटेक इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के राष्‍ट्रीय स्‍तर के अंकेक्षकों ने दो चरणों में सघन अंकेक्षण करते हुए प्रशासन अकादमी को आई. एस. ओ. प्रमाणन के लिए उपयुक्‍त पाया।
  • दिनांक 23 अप्रैल 2015 को प्रशासन अकादमी को तीन वर्षों के लिए 9001:2008 प्रदान किया गया।

         (स) आई. एस. ओ. प्रमाणन उपरांत प्रशासन अकादमी

  • प्रत्‍येक गतिविधि के लिए निर्धारित मानक प्रक्रिया के अनुसार कार्यवाहियॉं की जा रही हैं।
  • आई. एस. ओ. के अनुरूप प्रबंधन समिति द्वारा सतत निगरानी की जा रही है।
  • निर्धारित अवधि में प्रशिक्षित अंकेक्षकों द्वारा अकादमी की विभिन्‍न शाखाओं का आंतरिक अंकेक्षण किया जा रहा है।
  • आंतरिक अंकेक्षण में पाई गई कमियों का विश्‍लेषण एवं समय सीमा में वॉंछित सुधारात्‍मक कार्यवाहियॉं की जा रही हैं।
  • प्रशिक्षण की गुणवत्‍ता में वृद्धि हुई हैं।
  • प्रशासन अकादमी की भौतिक सुविधाओं के समुचित संधारण में सहायता मिली हैं।

अकादमी को नवाचार एवं उत्‍कृष्‍ट पद्धतियों को विकसित करने के लिए राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार

भारत सरकार कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) नई दिल्‍ली द्वारा यू.एन.डी.पी. के सहयोग से दिनांक 11 एवं 12 अप्रैल 2015 को प्रथम बार National Symposium on Excellence in Training विषय पर 2 दिवसीय राष्‍ट्रीय संगोष्‍ठी का आयोजन विज्ञान भवन नई दिल्‍ली में किया गया था। संगोष्‍ठी में प्रशिक्षण के क्षेत्र में उत्‍कृष्‍ट कार्य करने वाली प्रशिक्षण संस्‍थाओं (C.T.I./A.T.I.)/मंत्रालयों/विभागों/व्‍यक्तियों (प्रशिक्षकों) से प्रशिक्षण के क्षेत्र में किये गये नवाचारों तथा विकसित की गई उत्‍कृष्‍ट प्रशिक्षण पद्दतियों के प्रदर्शन के लिए निम्‍नानुसार 4 श्रेणियों में प्रविष्टियां आमंत्रित की गईं थी -

  1. Development of Training Content and Pedagogy.
  2. Methodology and Delivery.
  3. Management of Training and Training Establishments.
  4. Trainer/Faculty Development.

 

आर.सी.वी.पी. नरोन्‍हा प्रशासन एवं प्रबंधकीय अकादमी, भोपाल द्वारा चारों श्रेणियों में अपनी प्रविष्टियां प्रेषित की गई थीं । देशभर से भारत सरकार, कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) नई दिल्‍ली को इस हेतु कुल 57 प्रविष्टियां प्राप्‍त हुई थीं । प्रशासन अकादमी भोपाल द्वारा प्रस्‍तुत उक्‍त 4 प्रविष्टियों में से 2 प्रविष्टियों Methodology and Delivery श्रेणी के अंतर्गत Video Interactive Didactics For Your Awareness तथा Management of Training and Training Establishments श्रेणी के अंतर्गत Preparation of Training Calendar & Follow-Up With ERP का अंतिम रूप से संगोष्‍ठी में प्रस्‍तुतिकरण हेतु चयन किया गया।

उल्‍लेखनीय है कि भारत सरकार कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) नई दिल्‍ली द्वारा आयोजित इस प्रथम संगोष्‍ठी में प्रशासन अकादमी भोपाल की उक्‍त दोनों ही प्रविष्टियों को प्रशिक्षण के क्षेत्र में उत्‍कृष्‍ट कार्य हेतु राष्‍ट्रीय उत्‍कृष्‍टता पुरस्‍कार प्राप्‍त हुये। यह भी उल्‍लेखनीय है कि प्रशासन अकादमी देश की एक मात्र ऐसी प्रशिक्षण संस्‍था है जिसे राष्‍ट्रीय स्‍तर के दो पुरस्‍कार एक साथ प्राप्‍त हुये।

संचालक, प्रशासन अकादमी Methodology and Delivery श्रेणी के अंतर्गत Video Interactive Didactics for Your Awareness (VIDYA) हेतु राष्‍ट्रीय उत्‍कृष्‍टता पुरस्‍कार प्राप्‍त करते हुए

 
 

संचालक, प्रशासन अकादमी Management of Training and Training Establishments श्रेणी के अंतर्गत Preparation of Training Calendar & Follow-Up With ERP हेतु राष्‍ट्रीय उत्‍कृष्‍टता पुरस्‍कार प्राप्‍त करते हुए

आधारभूत प्रशिक्षण कार्यक्रम

राष्‍ट्रीय महत्‍व की अखिल भारतीय एवं केन्‍द्रीय सेवाओं के लिए आयोजित होने वाले 15 सप्‍ताह के आधारभूत प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रशासन अकादमी में वर्ष 2009 में प्रारंभ हुए। उल्‍लेखनीय है कि यह प्रशिक्षण कार्यक्रम लोक सेवा आयोग से चयनित नव नियुक्‍त अधिकारियों के लिए सामान्‍यत: लाल बहादुर शास्‍त्री राष्‍ट्रीय प्रशासन अकादमी, मसूरी में आयोजित किए जाते हैं। भारत सरकार के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग द्वारा प्रशासन अकादमी के उत्‍कृष्‍ट संसाधनों को देखते हुए 83 वां आधारभूत प्रशिक्षण कार्यक्रम से यह उत्‍तरदायित्‍व प्रदान किया गया।

83 वां आधारभूत का आयोजन दिनांक 31.08.2009 से 11.12.2009 तक किया गया, जिसमें ग्रुप ए की 7 केन्‍द्रीय सेवाओं के 78 अधिकारियों ने भाग लिया। इस पाठ्यक्रम के उत्‍कृष्‍ट आयोजन को देखते हुए भारत सरकार के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग ने विशेष आधारभूत प्रशिक्षण कार्यक्रम के आयोजन की जिम्‍मेदारी प्रशासन अकादमी को दी, जिसमें भारतीय पुलिस सेवा के 62 एवं भारतीय वन सेवा के 10 अधिकारियों सहित कुल 05 सेवाओं के 83 अधिकारियों ने दिनांक 15.01.2010 से 27.04.2010 तक भाग लिया।

इसी प्रकार प्रशासन अकादमी द्वारा 85वां, 86वां, 87वां एवं 88वां आधारभूत प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन लगातार किया, जिसमें कुल 18 सेवाओं के 300 अधिकारियों ने भाग लिया। अखिल भारतीय एवं केन्‍द्रीय सेवाओं के अधिकारियों के लिये दिनांक 29.08.2016 से 09.12.2016 तक 91वां आधारभूत प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रशासन अकादमी में संचालित किया जा रहा है, जिसमें भारतीय पुलिस सेवा के 37 एवं भारतीय वन सेवा के 11 अधिकारियों सहित कुल 04 सेवाओं के 51 अधिकारियों भाग ले रहे हैं।

आधारभूत प्रशिक्षण कार्यक्रम में स्‍वर्गीय श्री ए. पी. जे. अब्‍दुल कलाम, पूर्व राष्‍ट्रपति, श्री अनुपम खेर, अभिनेता, श्री जोगिंदर सिंह, पूर्व संचालक, सीबीआई, प्रो. डी. पी. अग्रवाल, चेयरमेन, यूपीएससी, श्री के. सी. वर्मा, पूर्व प्रमुख, रॉ, श्री मेजर जनरल जी. एस. चंदेल, श्रीमती जीनत अमान, अभिनेत्री, श्री प्रकाश झा, फिल्‍म निर्देशक, श्री बी. एल. जोशी, पूर्व राज्‍यपाल उत्‍तरप्रदेश, श्रीमती अल्‍का सिरोही, सदस्‍य, यूपीएससी, श्री शेखर दत्‍त, पूर्व राज्‍यपाल छत्‍तीगढ़, श्रीमती मल्लिका साराभाई, श्री मेजर जनरल सुनील चन्‍द्र, श्री पी.पी. नावलेकर, लोकायुक्‍त आदि व्‍याख्‍याताओं ने अपने व्‍याख्‍यान से प्रशिक्षु अधिकारियों को लाभांवित किया।

 
 

Officer trainees of 87th FC with the Former President of India, Dr. A. P. J. Abdul Kalam and GAD Minister, Shri Kanhiya Lal Agrawal

 
 

Officer trainees of 88th FC with the Honourable Governor of Chhattisgarh, Shri Shekhar Dutta

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Officer trainees of 91st  FC with the Former Governor of Manipur, Shri O. N. Shrivastava, Director General of Police Shri Rishi Kumar Shukla and Director General of Academy Smt. Kanchan Jain

मीडिया गैलरी

प्रमुख गतिविधियाँ

प्रकाशन

केंद्र और परियोजनाएं