आर.सी.वी.पी. नरोन्हा प्रशासन अकादमी में आपका स्‍वागत है

भोपाल के दक्षिण पूर्वी भाग में हरे भरे मनोरम परिसर में शाहपुरा झील के किनारे स्थित आर.सी.वी.पी. नरोन्हा प्रशासन एवं प्रबंधकीय अकादमी मध्यप्रदेश शासन की शीर्षस्थ प्रशिक्षण संस्था है। इसकी स्थापना वर्ष 1966 में मूलतः लालबहादुर शास्त्री लोक प्रशासन संस्थान के रूप में हुई थी। वर्ष 1975 में इसका नाम मध्यप्रदेश प्रशासन अकादमी रखा गया। वर्ष 2001 में मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्‍य सचिव की स्‍मृति में अकादमी को आर.सी.वी.पी. नरोन्हा प्रशासन एवं प्रबंधकीय अकादमी मध्यप्रदेश, भोपाल नाम दिया गया। वर्ष 1992 में ओवरसीज डेवलपमेंट अथॉरिटी, यू.के. जो अब डी.एफ.आई.डी. के रूप में जाना जाता है तथा भारत सरकार के संयुक्त तत्‍वावधान में प्रायोजित प्रशिक्षकों की प्रशिक्षण परियोजना एवं जेण्‍डर प्‍लानिंग प्रशिक्षण के लिए अकादमी को राष्ट्रीय स्‍तर पर क्षेत्रीय प्रशिक्षण संस्‍थान के रूप में चयनित किया गया ।   ...और देखें

वर्तमान प्रशिक्षण कार्यक्रम

आगामी प्रशिक्षण कार्यक्रम

केंद्र और परियोजनाएं

प्रमुख गतिविधियाँ पुरालेख

प्रकाशन

"एक अनाड़ी की कही कहानी’’ पुस्‍तक का प्रकाशन एवं विमोचन

प्रशासन अकादमी के ज्ञान प्रबंधन एवं सुशासन केन्‍द्र द्वारा प्रदेश के प्रख्‍यात प्रशासक पद्मभूषण स्‍व. श्री आर. पी. नरोन्‍हा की पुस्‍तक “A tale told by an Idiot” का हिन्‍दी अनुवाद “एक अनाड़ी की कही कहानी’’ अकादमी के तत्‍कालीन महानिदेशक श्री इन्‍द्रनील शंकर दाणी द्वारा किया गया है। उक्‍त पुस्‍तक का प्रकाशन राजकमल प्रकाशन प्रा. लि., नई दिल्‍ली द्वारा किया गया। दिनांक 15 जून, 2015 को पुस्‍तक का विमोचन माननीय श्री जयंत सिन्‍हा, राज्‍य मंत्री, भारत सरकार, वित्‍त मंत्रालय के द्वारा किया गया।